लोक पहल जन मंच

खबरें देश की, विचार देश के

Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Post Type Selectors
post
Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Post Type Selectors
post
Generic selectors
Exact matches only
Search in title
Search in content
Post Type Selectors
post

आजम खान के घर पड़े छापे की नहीं थी किसी को जानकारी, ‘ऑपरेशन D’ को ऐसे किया गया था तैयार

News Content

सपा नेता आज़म खान के घर पर इनकम टैक्स में अचानक रेड मार दी। जैसे ही इनकम टैक्स की टीम ने आजम खान के घर पर छापा डाला, तो हड़कंप मच गया। क्योंकि किसी को भनक नहीं थी कि आजम खान के घर पर इनकम टैक्स का छापा पड़ेगा। इनकम टैक्स की टीम ने बड़ी ही सतर्कता के साथ आजम खान के घर पर छापा मारा। जहां छापे में आजम खान के घर से करीब 83 लाख का कैश और करीब 2 करोड़ रूपये के गहने मिले हैं। छापे की पूरी रणनीति इस प्रकार बनाई गई कि इस छापे में शामिल अधिकारियों को भी कोई भनक नहीं थी।

अधिकारियों भी नहीं थी छापे की जानकारी

समाजवादी पार्टी के महासचिव और पूर्व मंत्री आजम खान के घर जब आयकर विभाग का छापा पड़ना था, तो इसकी जानकारी छापे में शामिल अधिकारियों तक को नहीं थी। आजम खान के घर छापा मारने की तैयारी आयकर विभाग द्वार बिल्कुल गोपनीय तरीके से शुरू की गई थी। तैयारी इतनी गोपनीय थी कि आयकर विभाग के सिर्फ एक आला अधिकारी को ही यह मालूम था कि सपा नेता आजम खान के घर कब और किस समय छापा मारना है। यहां तक कि जो टीम बनाई गई थीं, उनको भी यह नहीं मालूम था कि छापा मारने के लिए कहां जाना है।

ऑपरेशन D में 5 टीम की गईं शामिल

सपा नेता आज़म खान के घर पर छापा मारने के लिए उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से आयकर विभाग की 5 टीम गठित की गई। जहां पांचो टीमों को अलग-अलग कोड दिया गया, लेकिन किसी भी टीम को यह मालूम नहीं था कि आखिर छापेमारी के लिए कहां पर जाना है। वहीं इस छापे की गोपनीयता को बनाए रखने के लिए आयकर विभाग ने आगरा, लखनऊ और दिल्ली से भरोसेमंद अधिकारियों को शामिल किया। जिस टीम को आजम खान के घर छापा डालना था, उस टीम में 10 गाड़ियों को रखा गया और उन गाड़ियों पर D1 से लेकर D10 तक कोड लिखा गया। ऑपरेशन D में कुल 42 लोगों को रखा गया, जिसमें सीमा शस्त्र बल के जवान भी शामिल थे।

रात भर सड़क पर घूमती रही टीम

आयकर विभाग ने सपा नेता आजम खान के घर छापेमारी करने के लिए टीम का गठन तो कर लिया लेकिन टीम को यह नहीं बताया गया कि आखिर छापेमारी के लिए कहां जाना है। आपको बता दें कि आपस में भटकाने के लिए टीम को पूरी रात अलग-अलग लोकेशन दी जाती रही और टीम को आगे बढ़ाने के लिए कहा गया। रात भर में कई बार लोकेशन भी बदली गई इससे टीम में शामिल अधिकारियों को भी कोई भनक नहीं लगी कि आखिर छापा मारने के लिए किसके यहां और कौन सी जगह जाना है। सुबह 6 बजे जब पांचो टीम रामपुर जेल के पास पहुंची, तो बताया गया कि उन्हें छापा मारने के लिए आजम खान के घर जाना है। बता दें कि इस दौरान बाकी चार टीमों को भी रामपुर में अलग-अलग ठिकानों पर भेजा गया, लेकिन जो मुख्य टीम थी, जिसका नाम ऑपरेशन D रखा गया था, उसे सीधी आजम खान के घर भेजा गया।

नहीं खोला गया था गेट

आजम खान के घर जब आयकर विभाग की ऑपरेशन D टीम पहुंची, तो आजम खान सहित पूरा परिवार सोया हुआ था। टीम ने आजम खान के घर पहुंच कर गेट खोलने को कहा, तो घर का गेट नहीं खोला गया। इसके बाद आयकर विभाग की टीम ने गेट खोलने के लिए 15 मिनट का समय दिया, लेकिन 15 मिनट बाद भी जब गेट नहीं खोला गया, तो एसएसबी के जवानों ने दीवार कूद कर खुद ही गेट खोल लिया और पूरी टीम को घर के अंदर ले लिया। टीम जैसे ही घर के अंदर पहुंची, तो सपा नेता आज़म खान ने आयकर विभाग की टीम पर दबाव बनाने की कोशिश की। लेकिन आयकर विभाग की टीम ने कहा कि हम उत्तर प्रदेश से नहीं, बल्कि दिल्ली से हैं, हम पर आपका कोई दवाब नहीं चलेगा। इसके बाद आजम खान भी शांत हो गए।

टीम को मिला 83 लाख कैश और गहने

आयकर विभाग की टीम को आजम खान के घर से अभी तक 83 लाख कैश और लगभग दो करोड़ रूपये के गहने मिले हैं। बता दें कि आजम खान ने एक बयान दिया था, जहां उन्होंने बताया था कि वह दूध बेचकर अपना घर चलते हैं, लेकिन आखिर दूध बेचने से उनकी इतनी कमाई कैसे हो गई कि उनके घर से 83 लाख रूपये कैश और लगभग दो करोड़ रूपये के गहने मिले हैं। 

Facebook
Twitter
LinkedIn
Pinterest
Pocket
WhatsApp
Scroll to Top